Category: नया दौर

सिद्धेश्वर की कविताओं में सार्थक बिंब और टटकापन है

      कोलकाता !16/01/2022 !” आदर्श, नैतिकता, प्रतिभा, न तो इंसानियत है बहुत कुछ!, देश को लूटने वालों की…

साहित्यिक गोष्ठियां यानि सार्थक सृजन

    “साहित्यिक गोष्ठियों से हम रचनात्मक ऊर्जा लेकर, सार्थक सृजन की ओर उन्मुख होते हैं !”: भगवती प्र, द्विवेदी…

प्रथम पाठशाला – लघुकथा गोष्ठी

    ” नवोदित रचनाकारों के लिए लघुकथा गोष्ठी, लघुकथा की प्रथम पाठशाला है !”: सिद्धेश्वर •••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••• “लघुकथा  गोष्ठी की…