Spread the love

 

 

– विशाल लोधी

 

पठन उच्च शिक्षा हों, बुद्धिमत्ता की प्राप्ति हों
प्रेम, स्वतंत्रत हों,रव अष्टांग हों
नव गीत हों नव लय हों नव उच्चारण हों
नव कंठ हों नव स्वर हों नव ताल हों
नव ज्योति हों नव गीत हों नव सृजन हों
नव शब्द हों नव मंत्र हों नव विस्तार हों
तुम ही से ज्ञान का आधार हों
तुम ही से संगीत का विस्तार हों
संगीत जननी हो हंस वाहिनी हो
दु:ख निवासिनी हो सरस्वती देवी हो
ज्ञान की ज्योति तुम से हे नित जलतीं
कुन्द, फूल, चंद्रमा,हिमराशि हो
मोती के हार की तरह ध्वल वर्ण हो
कमलों पर आसन हों श्वेत वस्त्र धारण हों
हाथों में वीणा हों पुस्तक धारण हों
नित सुंदर रुप हों विद्या,कला की देवी हों
मिट जावें हर वैर दिल से रहियों आपस में हिल मिल के

  • व्हाट्सएप नंबर ९६९१९१८०११
    ग्राम मगरधा पोस्ट आफिस सूखा
    तहसील पथरिया जिला दमोह मध्यप्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published.