Spread the love

आज सोशल मीडिया के प्रभाव में लोग अपने बंधु बांधव, हीतमीत को पत्र लिखना भूल गए हैं . तो चलिए फिर से यह शुरुआत करते हैं और अपने किसी ख़ास को प्रेम भरा एक पत्र लिखते हैं .

चांदनी रात थी,

छत पर करनी तुमसे कुछ बात थी

कमबख्त लाईट आ गई

चिठ्ठी जेब में रह गई और जगराता हो गया

चोर चोर का शोर मचा

कुत्ता भी भौंक पड़ा

और हमारा पहला प्रेम पत्र

सारी रात हमें मुंह चिढाता रहा .

ऐसे ही कुछ लिख भेजिए प्रकाशित होगा आपके नाम के साथ नहीं तो छद्म नाम से भी आप पत्र लिखें मगर जरुर लिखें . यह साइट आपको कैसी लगी यह भी बताएं अपने पत्रों के माध्यम से !

मेल करें – [email protected]

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *